Asthma.png

अस्थमा

अस्थमा एक पुरानी बीमारी है जिसकी विशेषता सांस लेने में तकलीफ और घरघराहट के आवर्तक हमलें है, जो गंभीरता और आवृत्ति में अलग-अलग व्यक्तियों में भिन्न होती है। अस्थमा के एक दौरे के दौरान, ब्रोन्कियल ट्यूबों का अस्तर फूलता है जिसके कारण वायुमार्ग संकीर्ण होने लगता है और फेफड़ों में और बाहर हवा के प्रवाह में कमी होती है।

अस्थमा के कारण पूरी तरह समझ नहीं आ रहे हैं। हालांकि, अस्थमा के विकास के जोखिम कारकों में अस्थमा ट्रिगर से सांस खींचने के रूप में जैसे एलर्जी, तंबाकू के धुएं और रासायनिक परेशानी शामिल है। अस्थमा ठीक नहीं किया जा सकता है, लेकिन उचित प्रबंधन अव्यवस्था को नियंत्रित करने और लोगों को एक अच्छे गुणवत्तापूर्ण जीवन का आनंद लेने के लिए सक्षम कर सकता है।

अधिक जानकारी के लिएः http://www.youtube.com/watch?v=S04dci7NTPk

अस्थमा की विशेषता हैः

  1. घरघराहट का आवर्तक प्रकरण
  2. सांस की तकलीफ
  3. छाती में जकड़न
  4. खाँसी

थूक खाँसी के द्वारा फेफड़ों से उत्पादित होता है, लेकिन अक्सर ऊपर लाने में मुश्किल हो सकती है। लक्षण आमतौर पर रात में और सुबह जल्दी खराब होते हैं या व्यायाम या ठंडी हवा के जवाब में। आमतौर पर ट्रिगर के जवाब में कुछ लोग शायद ही कभी अस्थमा के साथ लक्षणों का अनुभव करते है, जबकि दूसरे लक्षणों को लगातार एवं चिह्नित  करते है।

संबंधित परिस्थितियाँ
अस्थमा के साथ उन लोगों में अन्य स्वास्थ्य स्थितियों की एक संख्या अक्सर अधिक शामिल होती हैः जिनमें गैस्ट्रो-इसोफैगियल रिफलक्स रोग (जीईआरडी), तीपदवेपदनेपजपेए और आॅब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया होता है। मनोवैज्ञानिक विकारों के साथ चिंता विकारों का होना भी अधिक सामान्य है 16-52ः के बीच में और मनोदशा विकार में 14-41ः। यह फिर भी ज्ञात नहीं है कि अस्थमा के कारण मनोवैज्ञानिक समस्याएं होती है या मनोवैज्ञानिक समस्याएं अस्थमा का नेतृत्व करती हैं।

अस्थमा का सही कारण अभी तक ज्ञात नहीं है। कई शोधकर्ताओं के विचार से कुछ आनुवांशिक और पर्यावरणीय कारक परस्पर प्रभाव डालते हैं जो अस्थमा का कारण बनता है। कारकों में से कुछ में शामिल हैंः

  • एलर्जी को विकसित करने के लिए एक विरासत में मिली एटोपी (एटी-ओ-पे) नामक प्रवृत्ति।
  • माता पिता जिनमें अस्थमा है (आनुवंशिकता)।
  • धूले, पशु फर, तिलचट्टे, मिट्टी से, और पेड़ों, घास और फूल आदि के पराग से एलर्जी।
  • सिगरेट का धुआँ, वायु प्रदूषण, रसायन या कार्यस्थल में धूल, घर सजावट उत्पादों में यौगिकों, और स्प्रे (जैसे हेयरस्प्रे) के रूप में परेशानी।
  • एस्पिरिन या अन्य गैर स्टेरायडल विरोधी उत्तेजक दवाएं और नाॅन स्लैक्टिव बीटा ब्लाॅकर्स के रूप में दवाएं।
  • खाद्य पदार्थों और पेय में सल्फाइट।
  • जुकाम के रूप में वायरल ऊपरी श्वसन संक्रमण।
  • शारीरिक गतिविधियों सहित व्यायाम।
  • कुछ हवाई एलर्जी के संपर्क में आना या बचपन में या शुरूआती बचपन में जब प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित हो रही हो कुछ वायरल संक्रमणों का जोखिम।

कुछ कारकों के कारण दूसरों की तुलना में कुछ लोगों में अस्थमा के होने की संभावना हो सकती है। शोधकर्ता का शोध जारी हैं कि अस्थमा का कारण क्या है।

चिकित्सा इतिहास

आप अपने चिकित्सक से भी पूछ सकते हैंः

  • आपके चिकित्सा इतिहास सहित कि क्या आपको एलर्जी, दमा या अन्य चिकित्सा स्थितियाॅ हैं के बारे में।
  • यदि आपको अम्लिकोद्गार है अथवा आपके मुंह में एक खट्टा स्वाद है। ये गैस्ट्रो-इसोफैगियल रिफलक्स रोग (जीईआरडी) के लक्षण हो सकते हैं।
  • आपको हाल ही में सर्दी या फ्लू था या नहीं।
  • यदि आप धूम्रपान करते हैं या दूसरों के आसपास समय बिताते है जो धूम्रपान करते हैं।
  • आपके आसपास वायु प्रदूषण, बहुत सारी धूल, या धुआं है या नहीं।


शारीरिक परीक्षा
खांसी से संबंधित समस्याओं के लक्षणों की जांच करने के लिए, आपका डाॅक्टर आपके फेफड़ों को सुनने के लिए एक स्टेथोस्कोप का प्रयोग करेगा। वह या वो घरघराहट (एक सीटी या चीख़ ध्वनि जब आप सांस लेते हैं) या अन्य असामान्य ध्वनियों को सुनेगें।

निदान परीक्षण
आपका चिकित्सक आपके चिकित्सा के इतिहास और शारीरिक परीक्षा के परिणामों के आधार पर परीक्षण की सिफारिश कर सकता है। उदाहरण के लिए, यदि आपमें गर्ड के लक्षण हैं, तो आपका चिकित्सक एक पीएच जांच की सिफारिश कर सकता है। यह परीक्षण आपके गले में तरल पदार्थ के अम्ल स्तर को मापता है। अन्य परीक्षणों में शामिल हो सकते हैः

  • आपकी नाक या गले से बलगम की एक परीक्षा। यह परीक्षण दिखा सकता है कि क्या आपको एक जीवाणु संबंधी संक्रमण है।
  • छाती का एक्स-रे - छाती का एक्स-रे आपके दिल और फेफड़ों की एक तस्वीर लेता है। यह परीक्षण निमोनिया और फेफड़ों के कैंसर की स्थिति को पहचानने में मदद कर सकता है।
  • फेफड़ों के कार्यों का परीक्षण। ये परीक्षण मापते हैं कि आप साँस लेने और बाहर निकालने में कितनी हवा ले सकते हैं, कितनी तेजी से आप हवा में साँस बाहर छोढ़ते हैं, और कैसे अच्छी तरह से आपके फेफड़े आपके रक्त में आॅक्सीजन वितरित कर सकते हैं। फेफड़ों का परीक्षण अस्थमा और अन्य स्थितियों के निदान में सहायता कर सकता है।
  • सइनस का एक एक्स-रे। यह परीक्षण एक साइनस संक्रमण के निदान में सहायता कर सकता है।

चिकित्साः अस्थमा में दवाएं आमतौर पर इनहेलर के माध्यम से दी जाती हैं। इनहेलर (श्वसन यंत्र) द्वारा एक अस्थमा की दवा लेना एक कारगर उपाय है क्योंक इससे शरीर में कहीं भी बहुत कम समाप्त होने के साथ दवा सीधे फेफड़ों में जाती है।

रिलीवर इनहेलरः इनहेलर आमतौर पर एक छोटा-कार्यकारी बीटा2-एगोनिस्ट होता हैं। यह संकुचित वायुमार्ग के आसपास की मांसपेशियों में आराम से काम करता है। रिलीवर दवाओं के उदाहरण में सैल्बुटामोल और टैरब्ुटालिन शामिल हैं।

निवारक इनहेलरः यह वायुमार्ग में सूजन और जलन की मात्रा को कम करने और अस्थमा के होने वाले हमलों केा रोकने के लिए काम करता है। निवारक इनहेलर के उदाहरण हैं बेच्लोमेथसोने, बुदेसोनिदे, फ़्लुतिचसोए, मोमेतसोने।

ब्रोन्कियल थर्मोप्लास्टिः ब्रोन्कियल थर्मोप्लास्टि एक नई प्रक्रिया है जो अभी तक व्यापक रूप् से उपलब्ध नहीं है। कुछ मामलों में यह कम संकुचित वायुमार्ग से गंभीर अस्थमा के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

  • लक्षण जो नींद, काम या मनोरंजक गतिविधियों के साथ हस्तक्षेप करते है।
  • ब्रोन्कियल ट्यूबों का स्थायी संकुचन (वायुमार्ग का फिर से बनना) आप कितनी अच्छी तरह से साँस ले सकते हैं से प्रभावित होता है।
  • अस्थमा के भड़कने के दौरान काम या स्कूल से विरक्त दिन।
  • गंभीर अस्थमा को स्थिर करने के लिए इस्तेमाल की गई कुछ दवाओं के लंबे समय तक उपयोग से अतिरिक्त असर।

अधिक जानकारी के लिएः http://www.youtube.com/watch?v=S04dci7NTPk 

  • PUBLISHED DATE : May 18, 2015
  • PUBLISHED BY : NHP CC DC
  • CREATED / VALIDATED BY : NHP Admin
  • LAST UPDATED ON : Jun 03, 2015

Discussion

Write your comments

This question is for preventing automated spam submissions
The content on this page has been supervised by the Nodal Officer, Project Director and Assistant Director (Medical) of Centre for Health Informatics. Relevant references are cited on each page.